Pulwama Attack History 2019 | Black Day for India | भारत ने 12 दिनों में लिया अपने 40 जवानों की शहादत का बदला | Pulwama Attcak Revenge | Pulwama Attack Story

Pulwama Attack History: 14 फरवरी 2019 और समय दोपहर के 3 बजे  जम्मू कश्मीर में हुए पुलवामा हमले का चौथा वर्ष  है जिसे हम ब्लैक डे (Black Day) के नाम से भी जानते हैं  14 फरवरी 2019 को जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग से लगभग 78 बसों में 2500 जवान सफर कर रहे थे और उस दिन भी आम दिनों की तरह ही सड़कों पर चहल पहल थी जैसे ही  सीआरपीएफ( CRPF ) का काफिला पुलवामा पहुंचा उसी वक्त जैसा मोहम्मद के  आतंकवादियों ने 350 किलो विस्फोटक से भरी SUV को सीआरपीएफ जवानों के बसों से भीडा  दी और इस हमले में  2  बसें चपेट में आई जिसमें से एक बस के चिथड़े उड़ गए और  इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए कश्मीर में  30 साल से आतंकवादी दौर में  यह हमला सबसे बड़ा और भयानक भी था

 विस्फोटक धमाका इतना भयंकर था कि थोड़ी देर में ही पूरा वातावरण धुआँ धुआँ हो गया और जब कुछ समय बाद धुआँ हटा तो वहां का नजारा बहुत ही डरावना था जिसे देख  पूरा देश  अपने आंसुओं को नहीं रोक पाया और रो पड़ा। उस दिन पुलवामा में जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय मार्ग पर  हमारे शहीद जवानों की  लाशें बिखरी हुई पड़ी थी और चारों तरफ खून ही खून और जवानों के विस्फोटक में कटे हुए शरीर के टुकड़े दिखाई दे रहे थे  बाकी कुछ जवाब अपने साथियों की खोज कर रहे थे  और सेना ने अपनी सूझबूझ दिखाते हुए तुरंत ही बचाव का कार्य शुरू किया और घायल जवानों को  फौरन  हॉस्पिटल पहुंचाया इस घटना के बाद  देश  में हाहाकार मच गया 

Read: गणतंत्र दिवस पर गौरव तनेजा ने आसमान में बनाया भारत का नक्शा

Pulwama Attack 2019: Also Known as Black Day (14 Febuary 2019)

सन 2010 में भी छत्तीसगढ़ में कुछ नक्सलियों ने जवानों पर हमला किया था और इसमें 76 जवान शहीद हुए थे और 9 साल बाद 14 फरवरी 2019 को वही नजारा पुलवामा में देखा गया जिसे जैश मोहम्मद के आतंकी आदिल अहमद डार ने किया था EID  ब्लास्ट की ट्रेनिंग डार  को अब्दुल रशीद  गाजी ने दी थी  जो पहले  pok के कैंप में  इंस्पेक्टर था 

Pulwama attack

 

मसूद अजहर के भाई ने रैली के दौरान भारत को दी थी धमकी

Pulwama Attack 2019: पुलवामा हमले  को  अंजाम देने की जिम्मेदारी पाकिस्तान के  आतंकी संगठन  जैश मोहम्मद ने ली थी और इस संगठन का  सरगना मसूद अजहर  था ।

कराची में  पुलवामा हमले से 10 दिन पहले ही 5 फरवरी को जैश-ए-मोहम्मद की रैली हुई थी और इस रैली के दौरान मसूद अजहर के छोटे भाई  मौलाना अब्दुल  रउफ अजगर ने भारत को धमकी दी थी।

2500  जवानों को  निशाने पर रखा था जैश  ने (Pulwama Attack 2019)

Pulwama Attack, Black Day

जम्मू स्थित चेनानी रामा ट्रांजिट कैंप  से  जवानों का  काफिला श्रीनगर के लिए  निकला था और जवानों को अंधेरा होने से पहले श्रीनगर के बख्शी स्टेडियम स्थित   ट्रांसिट कैंप में पहुंचना था  और यह सफर भी लगभग 320 किलोमीटर लंबा था  जब 14 फरवरी  2019 को  लगभग 2500 जवान  78 बसो में  सुबह 3:30  से श्रीनगर के लिए सफर  कर रहे थे लेकिन पुलवामा  मैं जैश के आतंकियों ने  इन जवानों  के   काफीलो  पर  हमला कर निशाना बनाया जिसमें कई जांबाज  जवान  शहीद हो गए  और इस काफिले में सफर कर रहे कई जवान  अपनी छुट्टी से  अलविदा लेकर  ड्यूटी पर वापस लौटे ही थे  वही  बर्फबारी  के कारण जो जवान  श्रीनगर जाने वाले थे  वह भी इस काफिले में शामिल थे जैश पूरे 2500  जवानों को अपना टारगेट बनाना चाहता था

जैश ने लिया था रात्‍नीपोरा एनकाउंटर का बदला

रात्‍नीपोरा एनकाउंटर  का बदला लेने के लिए जैश ने रची  थी  हमले की साजिश 

Black Day for India: जब जवानों की बसें पुलवामा से गुजर रही थी ठीक उसी समय विस्फोटक से भरी SUV कार बस से जा टकराई थी  हाईवे पर यह कार पहले से ही खड़ी थी और जिस जगह धमाका हुआ था उस जगह से श्रीनगर की दूरी लगभग 35 किलोमीटर थी और तकरीबन 1 घंटे में श्रीनगर पहुंचने वाली थी लेकिन  जैश  को यह मंजूर कहां था  उसने पहले से ही हमले की साजिश रची हुई थी  धमाका इतना जोरदार था की एक बस के  चिथड़े  उड़ गए और 40 जवान शहीद हो गए  इस हमले की वजह जैश का बदला माना गया  हमले से ठीक 2 दिन पहले  रात्‍नीपोरा  इलाके में सुरक्षाबलों ने जैश के आतंकी को  मार ढेर किया था।

 13 दिन बाद  भारत ने भी ईट का जवाब  पत्थर से दिया ( Pulwama Attack Revenge) 

Pulwama Attack Revenge: पुलवामा हमले के बाद ठीक 13 दिन बाद भारत ने भी ईट का जवाब  पत्थर से दिया  26 फरवरी  2019 की रात  को  भारत के वायुसेना ने 12 मिराज विमानों के साथ  Loc से 80 किलोमीटर  पाकिस्तान में घुसकर  जैश के सबसे बड़े आतंकी लांच पैड  को तहस-नहस कर दिया  भारतीय वायुसेना ने  बालाकोट में  एयर स्ट्राइक किया  और  इस हमले में  350 आतंकी  मार गिराए  थे

pulwama revenge, Balakot Surgical Strike: முசாஃபர்பாத்தில் தாக்குதல் நடத்த இது தான் காரணம்..! பாக்.,கிற்கு மரண பயத்தை காட்டிய இந்தியா...! - why indian air force attacked ...

सितंबर 2016 में  हुए  उड़ी  हमला सर्जिकल स्ट्राइक के बाद देश ने एयर स्ट्राइक देखी थी सन 1971 की  जंग  के दौरान वायु सेना ने  सरहद  पार  की  थी  और वही नजारा  भारत  को  48 साल बाद  सन 2019 में  देखने को मिला  जब  वायुसेना  एक बार फिर  सरहद को पार कर बदला लिया Pulwama Attack Revenge by Indian Army

बालाकोट में  एयर स्ट्राइक हमले के बाद  दोनों  देशों के बीच में जंग के हालात बन गए थे  और दोनों देशों के बीच में तनाव पैदा हो गया  इसके बाद  पाकिस्तानी सेना ने भारतीय वायु सेना के  विंग कमांडर अभिनंदन  जिसने  पाकिस्तानी  सेना के  f-16 विमान को  मार गिराया था को  अपनी हिरासत में ले लिया  लेकिन   पाकिस्तान देश को  अभिनंदन को  दबाव के कारण  58 घंटे के अंदर ही छोड़ना पड़ा ।

#pulwama attack #Black Day  #Indian Army #Pulwama History 

 

Leave a Comment