Khasra Number Kya Hota Hai | खसरा नंबर क्या है? जमीन का खसरा नंबर पता करें

By | May 14, 2024
Khasra Number Kya Hota Hai

Khasra Number kya Hota Hai:- यदि आप भी  अपने जमीन  जमीन का खसरा नंबर देखना चाहते हैं तो  यह लेख आपके लिए  बहुत मददगार साबित  होने वाली है  क्योंकि आज इस लेख में हम  जानने वाले हैं  की  खसरा नंबर क्या होता है , नाम से खसरा नंबर, Khasra Number Check,  खसरा नंबर के उपयोग,  का संबंध खसरा संख्या का संबंध  जमीन/ भूमि  रजिस्ट्रेशन संख्या से है  जिससे जमीन से जुड़ी  सभी जानकारी,  स्वामित्व,  व क्षेत्रफल का  अध्ययन किया जा सके  जमीन/ भूमि  का वर्गीकरण किया गया है  जैसे  कृषि भूमि,  आवासीय भूमि,  गोचर भूमि  इत्यादि जमीन के वर्गीकरण को  भु राजसव विभाग द्वारा  रजिस्ट्रेशन संख्या अलॉट की गई है  इसे अन्य भाषाओं में  खसरा संख्या,  खसरा खाता,  खाता संख्या,  गाटा संख्या  आदि  कहा जाता है  खसरा संख्या  राजस्व विभाग द्वारा   किए गए जमीन के रजिस्ट्रेशन  संख्या  को  ही  खसरा संख्या कहते हैं  आज इस लेख में हम  खसरा संख्या से जुड़े  सभी प्रश्नों के उत्तर जानेंगे  खसरा नंबर क्या होता है (Khasra Number Kya Hota Hai? 

आइए आज इस लेख में हम जानते हैं खसरा नंबर किसे कहते हैं? खाता संख्या और खसरा संख्या में क्या अंतर होता है? जमीन खसरा नंबर की आवश्यकता क्यों पड़ती है? खसरा नंबर कैसे दिया जाता है? जमीन का खसरा नंबर कैसे मिलता है? Khasra Number Kya Hota, khasra number kaise nikale, नाम से खसरा नंबर जानने के लिए  कृपया हमारे साथ  इस लेख में अंतर बने रहे  और जाने  खसरा नंबर क्या होता है

देखिये तो आपके लिए क्या आवश्यक हैं ?

खसरा नंबर क्या होता है? | What is Khasra Number

खसरा शब्द  ईरानी  शब्द से लिया गया है,  इस शब्द का उपयोग  जमीन संबंधी  वर्गीकरण को स्वामित्व के आधार पर  पॉइंट किया जाता है  हर जमीन  को  एक रजिस्ट्रेशन संख्या आलोट की जाती है  और उस रजिस्ट्रेशन संख्या को ही  खसरा नंबर कहा जाता है  और इसका नंबर से  जमीन के स्वामित्व का पता चलता है  ग्रामीण क्षेत्रों में  कृषि भूमि,  गोचर भूमि,  आदि को इंगित करने के लिए  खसरा नंबर आलोट किया जाता है  जो कि  भू राजस्व विभाग के  अधिकारी  जैसे पटवारी,  लेखपाल,  आदि के द्वारा  भूमि के वर्गीकरण के अनुसार  दिया जाता है   शहरों में  जमीन को  प्लाट नंबर के रूप में  विभाजित किया जाता है   यदि जमीन के खसरा संख्या में  किसी भी प्रकार का  बटवारा होता है तो  उस जमीन  के खसरा संख्या को  खसरा संख्या कोबटेवा  में डिवाइड कर दिया जाता है  उदाहरण के तौर पर  जैसे किसी जमीन का  खसरा संख्या 105  है  और बंटवारे के दौरान  इस खसरा संख्या को  चार भागों में विभाजित किया जाता है  अब इसका  खसरा संख्या 105/1, 105/2, 105/3, 105/4  होगा  

Khasra Number की आवश्यकता क्यों पड़ती है – Khasra Number Check

इस नंबर की आवश्यकता  इसलिए पड़ी  क्योंकि  किसी की अचल संपत्ति को पहचान पाना  बिल्कुल ना के बराबर है  और फिर राजस्व विभाग द्वारा  जमीन के विभाजन के दौरान  जमीन/ भूमि,  खेत,  प्लाट/ भूखंड  आदि को रजिस्ट्रेशन नंबर देना  उचित समझा  यदि जमीन का  रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं होता तो  कोई भी व्यक्ति  अपनी जमीन पर स्वामित्व होने का  दावा नहीं कर पाता  और ऐसे में  दूसरों की जमीन पर  कब्जा होने के  मामले   ज्यादा बढ़ जाते हैं  परंतु खसरा नंबर होने के कारण  कोई अन्य व्यक्ति  रजिस्टर जमीन पर  अपने स्वामित्व का दावा नहीं कर पाएगा  इससे जमीन संबंधी विवाद भी  कम होंगे 

खसरा नंबर से भूमि मालिक को होने वाले फायदे – Khasra Number

खेत जमीन भूखंड प्लॉट आदि को खसरा नंबर से अंकित करने पर भूमि मालिक को अनेक फायदे होते हैं जैसे:-

  • खसरा नंबर से जुडी जमीन की जानकारी ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं।
  • घर बैठे मोबाइल से जमीन की जानकारी खसरा संख्या के आधार पर देखी जा सकती है।
  • आवश्यकता पड़ने पर जमीनी संबंधित दस्तावेज जैसे जमीन/खेत का नक्शा, जमाबंदी, खतौनी, नक्शा, शजरा रिपोर्ट आदि देखने में सहायक होता है।
  • भू राजस्व विभाग द्वारा दिए गए Khasra Sankhya जमीन की स्वामित्वता को प्रमाणित करती है।
  • खसरा/ खतौनी संख्या किसी जमीन मालिक के लिए अद्वितीय है। यह नंबर अन्य किसी व्यक्ति को नहीं दिया जाता।
  • खसरा/गाटा नंबर से खेत जमीन का क्षेत्रफल ऑनलाइन देख सकते हैं।
  • यदि खसरा संख्या याद नहीं हो तो इसे किसान अपने नाम से भी प्राप्त कर सकते हैं।
  • खसरा नंबर की जमीन में बटवारा होने पर उसी खसरा संख्या को आधार मानकर वर्गीकरण किया जाता है।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों के लिए खसरा नंबर बहुत ही महत्वपूर्ण होता है।

अपना खाता खसरा नंबर राजस्थान कैसे देखें

जमीन का खाता खसरा ऑनलाइन कैसे देखें | Jameen Ka kahata Khasra No.

खसरा नंबर से जमीन देखें:- राजस्थान में खाता खसरा नकल देखने के लिए अपना खाता ऑफिशल पोर्टल पर केवल नाम से खसरा संख्या का पता कर सकते हैं। ऑनलाइन खसरा नंबर देखने के लिए नीचे दी गई प्रक्रिया को ध्यानपूर्वक फॉलो करें।

अपना खाता apna khata raj nic पर विजिट करें।

ऑफिशियल वेबसाइट पर राजस्थान का संपूर्ण मानचित्र दिखाई देगा। मानचित्र पर अपने जिले का चुनाव करें अर्थात जिले के नाम पर क्लिक करें। उदाहरण के तौर पर हम चूरु जिले के नाम पर क्लिक कर रहे हैं। 

khasra number kya hota hai

तहसील का चुनाव करें।

जिले का चुनाव करने के पश्चात अपनी तहसील का चुनाव करें। दिए गए तहसील नाम या नक्शे पर क्लिक करें।

khasra number kaise nikale

अपने गांव का चुनाव करें।

तहसील का चुनाव करने के पश्चात साइड बार में सभी गांव के नाम दिखाई देंगे। इसके अतिरिक्त दी गई सारणी में अपने गांव के पहले अक्षर पर क्लिक करें।

जमाबंदी प्रतिलिपि देखें पर क्लिक करें।

जमाबंदी प्रति लीटर पर क्लिक करने के पश्चात आपसे खाता संख्या, खसरा संख्या नाम से जमाबंदी निकालने के विकल्प दिखाई देंगे। अतः नाम पर क्लिक करें।

नाम से खसरा नंबर राजस्थान

नाम दर्ज करें

जमीन मालिक का नाम दर्ज करें और ढूंढे पर क्लिक करें।

गांव में जो भी काश्तकार इस नाम से होंगे। उन सभी का नाम दिखाई देगा अपने नाम पर क्लिक करें।

खसरा नंबर से जमीन देखें

जैसे ही आप नाम पर क्लिक करते हैं। आपके सामने खाता संख्या, खसरा संख्या,  जमीन रकबा, विवरण दिखाई देगा।

खसरा नंबर

Khasra Number Rajasthan | अपना खाता खसरा नंबर राजस्थान

इसी प्रकार आप राजस्थान के अन्य जिलों का Apna Khata Khasra Number (खाता खसरा नकल) को पता कर सकते हैं:-

Ajmer (अजमेर) Jalor (जालौर)
Alwar (अलवर) Jhalawar (झालावाड़)
Banswara (बांसवाड़ा) Jhunjhunu (झुंझुनू)
Baran (बारां) Jodhpur (जोधपुर)
Barmer (बाड़मेर) Karauli (करौली)
Bharatpur (भरतपुर) Kota (कोटा)
Bhilwara (भीलवाड़ा) Nagaur (नागौर)
Bikaner (बीकानेर) Pali (पाली)
Bundi (बूंदी) Pratapgarh (प्रतापगढ़)
Chittorgarh (चित्तौड़गढ़) Rajsamand (राजसमंद)
Churu (चुरु) Sawai Madhopur (सवाई माधोपुर)
Dausa (दौसा) Sikar (सीकर)
Dholpur (धौलपुर) Sirohi (सिरोही)
Dungarpur (डूंगरपुर) Sri Ganganagar (श्रीगंगानगर)
Hanumangarh (हनुमानगढ़) Tonk (टोंक)
Jaipur (जयपुर) Udaipur (उदयपुर)
Jaisalmer (जैसलमेर)

Khasra Number Kya Hota Haiखसरा नंबर क्या होता है

खसरा नंबर क्या होता है: आशा करते हैं कि  आपको आज का हमारा ये लेख पसंद आया होगा  और इसी लेख में  आपको आपके  खसरा नंबर से जुड़े सभी  प्रश्नों के उत्तर  मिल गए होंगे  जैसे :- खसरा नंबर किसे कहते हैं? खाता संख्या और खसरा संख्या में क्या अंतर होता है? जमीन खसरा नंबर की आवश्यकता क्यों पड़ती है? खसरा नंबर कैसे दिया जाता है? जमीन का खसरा नंबर कैसे मिलता है? Khasra Number Kya Hota, khasra number kaise nikale, नाम से खसरा नंबर यदि फिर भी  आपका  कोई प्रश्न  इस लेख में  मेंशन नहीं है तो  आप में  कमेंट सेक्शन में  उस   प्रश्न   को  पूछ  सकते हैं  हमारी टीम gyandoor.in आपकी सहायता के लिए  हमेशा तैयार रहती है  ताकि  आपके सभी प्रश्नों के उत्तर  जल्द से जल्द  दिए जाएं  और ऐसे ही भू अभिलेख, भू नक्शा, लैंड रिकॉर्ड से जुड़े  लेख पाने के लिए  हमारे नोटिफिकेशन को  अलाउ  कर ले  जिस से  हमारे अगले आने वाले लेख आप तक  सबसे पहले  पहुंच सके!

यह भी पढ़े: खसरा नंबर क्या है? Khasra Numbar Kaise Nikale

जमीन का नक्शा राजस्थान:  यदि आप भी राजस्थान से जुड़े रजिस्ट्री,  स्टांप ड्यूटी,  आदि के बारे में  जानना चाहते हैं तो  इसके लिए हमने  आपको नीचे सारणी में  राजस्थान से जुड़े कुछ जमीन की रजिस्ट्री की जानकारी राजस्थान, राजस्थान में स्टांप ड्यूटी और रजिस्ट्री शुल्क,  राजस्थान डीएलसी रेट,  राजस्थान की जमाबंदी ऑनलाइन, अपना खाता राजस्थान जमाबंदी नकल,  भू नक्शा राजस्थान एवं खसरा नक्शा ऑनलाइन देखें,  भूलेख जयपुर / Bhulekh Jaipur Online, भू नक्शा राजस्थान चेक और डाउनलोड कैसे करें आदि लेख  दिए हैं  जिन्हें पढ़कर आप  अधिक जानकारी  प्राप्त कर सकते हैं

जमीन की रजिस्ट्री की जानकारी राजस्थान
राजस्थान में स्टांप ड्यूटी और रजिस्ट्री शुल्क
राजस्थान डीएलसी रेट
राजस्थान की जमाबंदी ऑनलाइन
अपना खाता राजस्थान जमाबंदी नकल
भू नक्शा राजस्थान एवं खसरा नक्शा ऑनलाइन देखें
भूलेख जयपुर / Bhulekh Jaipur Online
भू नक्शा राजस्थान चेक और डाउनलोड कैसे करें

FAQs: Jamin ka map kaise nikale । ऑनलाइन जमीन का नक्शा 

Q. खसरा नंबर क्या है?

भू राजस्व विभाग द्वारा जमीन के वर्गीकरण के दौरान दिया गया रजिस्ट्रेशन अंक खसरा नंबर कहलाता है। जो खेत/जमीन, भूखंड/प्लॉट आदि को स्वामित्व के आधार पर आवंटन किया जाता है। खसरा नंबर जमीन के एक स्वामित्व अधिकारी को दिया जाता है। यह अंक अन्य किसी जमीन या व्यक्ति को अलॉटमेंट नहीं किया जाता।

Q. खसरा नंबर की आवश्यकता क्यों पड़ती?

जमीन संबंधित दस्तावेज एवं स्वामित्व रिकॉर्ड को देखने के लिए खसरा/खतौनी संख्या का होना आवश्यक है। यह जमीन का एक रजिस्ट्रेशन नंबर होता है।  जिससे राजस्व विभाग द्वारा दिया जाता है।

Q. कौन-कौन से राज्य में खसरा नंबर जारी किया जाता है?

वैसे तो खसरा नंबर सभी राज्यों में दिया जाता है। परंतु कुछ राज्यों में रजिस्ट्रेशन नंबर को खसरा नंबर नहीं बोलकर अन्य नामों से पुकारा जाता है। परंतु भारत के अधिकांश राजस्व विभागों द्वारा खसरा नंबर भी दिया जाता है। जैसे राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, झारखंड, बिहार, आदि।

Q. क्या खसरा नंबर में बदलाव किया जा सकता है?

खसरा नंबर में किसी प्रकार का बदलाव नहीं होता। यदि वर्गीकरण होता है।  तो इसी नंबर को आधार मानकर बेटवा में वर्गीकरण किया जाता है।

Q. खसरा नंबर कौन देता है?

जमीन संबंधी लेखा जोखा भू राजस्व विभाग द्वारा रखा जाता है। और इससे जुड़े रजिस्ट्रेशन एवं स्वामित्व रिकॉर्ड भी इसी विभाग द्वारा सुनिश्चित किया जाता है।

Q. क्या खसरा संख्या को ऑनलाइन देख सकते हैं?

हां, खसरा संख्या को ऑनलाइन देखा जा सकता है। जिसमें किसान केवल नाम से ही भी खसरा संख्या का पता कर सकते हैं।

Q. नाम से खसरा नंबर कैसे देखें?

किसान केवल नाम से खसरा नंबर देखने के लिए अपना खाता ऑफिशल पोर्टल पर विजिट करें। नक्शे में जिला तहसील गांव का चुनाव करें। जमाबंदी प्रतिनिधि पर क्लिक करें। नाम से  जमाबंदी देखने पर क्लिक करें। अपने नाम का चुनाव करें। आपके सामने खाता संख्या खसरा संख्या जमीन रकबा विवरण दिखाई देगा।

Q. अपना खाता खसरा नंबर कैसे देखे ऑनलाइन?

अपना खाता ऑफिशल पोर्टल पर जमीन का खसरा नंबर देखने के लिए आसान प्रक्रिया फॉलो करें। सबसे पहले ऑफिशल वेबसाइट पर विजिट करें। नक्शे में जिला, तहसील, गांव का चुनाव करें। जमाबंदी प्रतिनिधि पर क्लिक करें। नाम से  जमाबंदी देखने पर क्लिक करें। अपने नाम का चुनाव करें। आपके सामने खाता संख्या, खसरा संख्या, जमीन रकबा, विवरण दिखाई देगा।

Q. खेत जमीन का खसरा नंबर कैसे पता करें?

किसान अपने खेत जमीन का खसरा नंबर अब घर बैठे ऑनलाइन देख सकते हैं। राजस्थान राजस्व विभाग द्वारा सभी भूमि रिकॉर्ड को अपना खाता ऑफिशल पोर्टल पर अपलोड कर दिया गया है। अपना खाता पोर्टल पर विजिट करके जिला तहसील गांव का चुनाव करें। जमाबंदी प्रतिलिपि पर क्लिक करें। नाम से जमाबंदी देखने पर क्लिक करें। इस प्रक्रिया के माध्यम से खाता संख्या जमीन का खसरा संख्या तथा रकबा देख सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *