Khatu Shyam Jane Ka Rasta | खाटू श्याम मंदिर जाने का रास्ता (ट्रेन, बस और हवाई जहाज की पूरी जानकारी) | Khatu Shyam Mandir Near Railway Station

By | May 20, 2024
Khatu Shyam Jane Ka Rasta

Khatu Shyam Jane Ka Rasta: भारत में कई ऐसे अनेकों मंदिर हैं जहां हर साल लाखों – करोड़ों की संख्या में भक्त दर्शन करने आते हैं उनमें से एक मंदिर खाटू श्याम जी है जो राजस्थान के सीकर जिले के खाटू नगर में स्थित है खाटू श्याम जी को इस कलयुग में श्री कृष्ण का अवतार माना जाता है और इस कलयुग में खाटू श्याम के भक्तों की संख्या लाखों में है और जो की दिन पर दिन बढ़ती जा रही है खाटू श्याम जी को हारे का सहारा भी कहा जाता है कहते हैं कि जो भी भक्त इनके पास अपनी परेशानियां लेकर आता है वह सारी परेशानियां खुद ही हर लेते है एक सर्वे के मुताबिक प्रत्येक वर्ष 90 लाख से ज्यादा भक्त खाटू श्याम के दर्शन के लिए आते हैं उनका मानना है कि खाटू श्याम के दर्शन करने से उनकी सभी  मनोकामनाएं पूर्ण होती है और उन पर खाटू श्याम भगवान कृपा बरसाते हैं – khatu shyam mandir near railway station

आज हम इस लेख में खाटू श्याम जाने का रास्ता (Khatu Shyam Jane Ka Rasta) के बारे में  विस्तार से जानेंगे फिर चाहे आप भारत के किसी भी कोने में हो हमारे इस आर्टिकल को पढ़कर आप  बड़ी आसानी से बस,  ट्रेन (खाटू श्याम जाने का रास्ता by train) अथवा एरोप्लेन द्वारा खाटू श्याम मंदिर पहुंच कर उनके दर्शन कर सकते हैं चलिए इस लेख में हम  (khatu shyam mandir jane ka rasta) विस्तार से जानते हैं खाटू श्याम मंदिर जाने का रास्ता कौन कौन सा है (Khatu Shyam Jane Ka Rasta).

देखिये तो आपके लिए क्या आवश्यक हैं ?

खाटू श्याम मंदिर जाने का रास्ता – Khatu Shyam Jane Ka Rasta

खाटू श्याम जाने का रास्ता | khatu shyam jane ka rasta – यदि आप  खाटू श्याम बाबा के बारे में  अधिक जानने के इच्छुक हैं तो  हमने नीचे सारणी में  खाटू श्याम बाबा के बारे में  कुछ पोस्ट मेंशन की  है  जिसमें आप  खाटू श्याम मंदिर का रास्ता, खाटू श्याम बाबा  का इतिहास, खाटू श्याम व्हाट्सएप स्टेटस खाटू श्याम बाबा  का नाम, खाटू श्याम मंदिर जाने का रास्ता,  खाटू श्याम जी आरती  को पढ़ सकते हैं – खाटू श्याम जाने का रास्ता, खाटू श्याम जाने का रास्ता by train

जानिए खाटू श्याम जी का इतिहास
खाटू श्याम चालीसा
खाटू श्याम जी की आरती
खाटू श्याम जी भजन लिरिक्स
खाटू श्याम जी शायरी

khatu shyam ji ka mandir kahan hai | खाटू श्याम मंदिर का रास्ता

khatu shyam ka mandir kahan hai: खाटू श्याम का मंदिर भारत के राजस्थान में सीकर जिले में खाटू नगर है जहां पर  खाटू श्याम का मंदिर स्थित है कुछ मान्यताओं के अनुसार  सभी खाटू श्याम मंदिरों में  से राजस्थान के सीकर जिले में स्थित खाटू श्याम मंदिर सबसे अधिक प्रसिद्ध है तथा इस मंदिर में प्रतिदिन लाखों की संख्या में  भक्त खाटू श्याम (Khatu Shyam) के दर्शन करने आते हैं  उनका मानना है कि जो भी मनोकामनाएं खाटूश्यामजी से मांगते हैं  सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है इसके साथ ही हम आपको बता दें यह मंदिर  1000 साल से भी अधिक पुराना है जो कि आज आस्था का सबसे बड़ा केंद्र है – khatu shyam ji ka mandir kahan hai

खाटू श्याम का इतिहास | Khatu Shyam Jane Ka Rasta

Khatu Shyam Name, Khatu Shyam Jane Ka Rasta

खाटू श्याम जाने का रास्ता by train: खाटू श्याम जी का मंदिर राजस्थान के सीकर जिले में स्थित है खाटू श्याम का इतिहास के बारे में जानने के लिए हमें  महाभारत के युद्ध से शुरु करना होगा  क्योंकि खाटू श्याम का पहले नाम बर्बरीक था लेकिन भगवान श्री कृष्ण  ने  बर्बरीक से खुश होकर उन्हें अपना नाम समर्पित किया था बर्बरीक एक महान योद्धा थे  जो कि महाशक्तिशाली भीम के पुत्र घटोत्कच के पुत्र हैं उन्होंने अपनी शिक्षा भगवान श्रीकृष्ण से प्राप्त की है पर भगवान श्री कृष्ण के कहने पर ही उन्होंने मां दुर्गा की कठोर तपस्या कर उनसे तीन बाण प्राप्त किए थे जिससे वे पूरे संसार को जीत सकते थे 

जैसे ही महाभारत की युद्ध की खबर बर्बरीक को मिली तो वह भी इसमें हिस्सा लेने के लिए तैयार हो गया और अपनी मां के पास आशीर्वाद लेने पहुंचे  तो उनकी मां ने उनसे एकवचन मांगा कि बिहार में पक्ष का साथ देंगे  और बर्बरीक ने इस बात को स्वीकार कर लिया और युग के लिए निकल पड़े  लेकिन भगवान श्री कृष्ण ने सर्वश्रेष्ठ ज्ञानी हैं  उन्हें यह पता था कि इस युद्ध में पांडवों की ही जीत होनी है यदि बर्बरीक युद्ध में हिस्सा लेंगे तो शायद परिणाम कुछ और ही हो सकते हैं  भगवान श्री कृष्ण ने ब्राह्मण का वेश धारण कर बर्बरीक से उनका  महाभारत युद्ध भूमि पूजन के लिए  उनसे उनका शीश मांगा और बर्बरीक ने उन्हें अपना शीश महाभारत भूमि पूजन के लिए दान में दे दिया और तब से वे  शीश के दानी नाम से भी जाने जाने लगे और भगवान श्री कृष्ण ने  उन से प्रसन्न होकर हैं  उनको अपना नाम श्याम समर्पित किया  लेकिन खाटू नगर में स्थित होने के कारण उनका नाम खाटू श्याम पड़ गया  – khatu shyam mandir ka rasta

Also read: जानिए खाटू श्याम कौन हैं तथा उनसे जुड़ी 10 बातें

खाटू श्याम मंदिर जाने का रास्ता | Khatu Shyam Jane Ka Rasta

khatu shyam jaane ka rasta

Khatu Shyam Jane Ka Rasta: यदि आप भी  राजस्थान के सीकर जिले में  खाटू नगर में स्थित खाटू श्याम बाबा के दर्शन करना चाहते हैं तो  आप भी इन 3 तरीकों से  खाटू श्याम मंदिर आकर  भगवान खाटू श्याम के दर्शन कर सकते हैं  अरे तीन रास्ते हैं बस (खाटू श्याम जाने का रास्ता by bus), ट्रेन और हवाई जहाज  चलिए  आगे इस लेख में हम एक-एक करके खाटू श्याम मंदिर जाने के रास्ते के बारे में जानते हैं – khatu shyam mandir ka rasta

 

ट्रेन से खाटू श्याम जाने का रास्ता | Khatu Shyam Jane Ka Rasta by Train

खाटू श्याम जाने का रास्ता by train: अगर आपको भी  (khatu shyam jane ka rasta by train) ट्रेन का सफर बहुत अच्छा लगता है  और खाटू श्याम दर्शन के लिए आपने ट्रेन का चयन किया है तो  सबसे पहले आपको अपने नजदीकी रेलवे स्टेशन (khatu shyam mandir near railway station) या अपने मोबाइल से राजस्थान में स्थित जयपुर रेलवे स्टेशन (खाटू श्याम जाने का रास्ता by train) के लिए एक टिकट बुक करना होगा  

और जैसे ही आप  जयपुर रेलवे स्टेशन पहुंचेंगे  तो  स्टेशन (खाटू श्याम जाने का रास्ता by train) के बाहर निकलते ही आपको  सिंधी कैंप बस स्टैंड से खाटू श्याम मंदिर जाने के लिए डायरेक्ट बस या टैक्सी मिल जाएगी और खाटू श्याम मंदिर यहां से लगभग 80 किलोमीटर दूरी पर है और सिंधी कैंप से खाटू श्याम मंदिर के लिए  बस और टैक्सी हमेशा चलती रहती है  इसके लिए आपको टाइम की चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है आप किसी भी टाइम सिंधी कैंप बस स्टेशन से खाटू श्याम मंदिर (khatu shyam jane ke liye train) जाने के लिए बस या टैक्सी का चयन कर सकते हैं – खाटू श्याम जाने का रास्ता by train

हवाई जहाज द्वारा खाटू श्याम मंदिर जाने का रास्ता | Khatu Shyam Jane Ka Rasta by Aeroplane

khatu shyam ji ka mandir kahan hai: यदि आप  खाटू श्याम के लिए हवाई जहाज के माध्यम से आना चाहते हैं  तो उसके लिए आप अपने नजदीकी एयरपोर्ट से जयपुर के लिए टिकट बुक करें  जयपुर एयरपोर्ट के बाहर से ही आपको  खाटू श्याम मंदिर जाने के लिए बस,  टैक्सी या प्राइवेट कार  को हायर कर सकते हैं  जो आपको  खाटू श्याम मंदिर  तक पहुंचा देंगे  और  जयपुर एयरपोर्ट से खाटू श्याम मंदिर की दूरी लगभग  94 किलोमीटर है 

बस द्वारा खाटू श्याम मंदिर जाने का रास्ता | Khatu Shyam Jane Ka Rasta by Bus

खाटू श्याम जाने का रास्ता by bus: यदि आप भी खाटू श्याम मंदिर आने के लिए  बस का चयन कर रहे हैं  तो सबसे पहले आप अपने नजदीकी बस स्टैंड पर जाकर जयपुर सिंधी कैंप बस स्टैंड के लिए एक बस का चयन करें  अब आप यहां से बस को चेंज करके खाटू श्याम जाने वाली बस में  बैठ सकते हैं  और बड़ी सरलता पूर्वक  आप खाटू श्याम मंदिर जाते हैं भगवान खाटू श्याम के दर्शन कर सकते हैं – खाटू श्याम जाने का रास्ता by bus

Also Read: krishna 108 Names in Hindi | भगवान कृष्ण के 108 नाम 

खाटू श्याम जगह पर रुकने और खाने की व्यवस्था | खाटू श्याम जाने का रास्ता by train

खाटू श्याम जाने का रास्ता: यदि भगवान खाटू श्याम के दर्शन के लिए  बड़ा लंबा सफर तय करके आ रहे हैं  और यह भी सोच रहे हैं कि वहां पर रूप में या थाने की व्यवस्था का  क्या होगा  लेकिन इस लेख में हम आपको बता दें  इस बात को लेकर  आपको परेशान होने की  बिल्कुल भी जरूरत नहीं है  क्योंकि  यहां आने के बाद खाने और रहने की व्यवस्था बड़ी अच्छी होती है जिसे आप नीचे दिए हुए  स्टेप्स को पढ़कर जान सकते हैं

  • खाटू श्याम मंदिर में कई धर्मशालाएं बनी हुई है  जिनका 1 दिन का चार्ज  मात्र 300 से ₹500 के बीच होता है जहां आप अपने परिवार के साथ ही रुक सकते हैं
  •  यदि आप धर्मशाला में नारे कर किसी होटल में रहना चाहते हैं तो यह भी मुमकिन है आप यहां  अपने लिए पर्सनल  होटल बुक कर सकते हैं जिस का 1 दिन का किराया मिनिमम ₹800 से ₹1500 के बीच होता है
  • और खाने के लिए  यहां  कई  रेस्टोरेंट मिल जाएंगे  जहां पर आप  ₹100 से ₹200 की थाली लेकर भरपेट भोजन कर सकते हैं और यदि आप किसी होटल में खाना चाहते हैं तो वह भी मुमकिन है यहां आस-पास बहुत सारे होटल अवेलेबल है  जहां पर आप अपने मन पसंदीदा  खाने का ऑर्डर देकर उनका आनंद ले सकते हैं

खाटू श्याम मंदिर खुलने का समय | khatu shyam mandir jane ka rasta

खाटू श्याम मंदिर गर्मी में सर्दी के दिनों में खुलने का समय  कुछ इस प्रकार है   गर्मियों में खाटू श्याम मंदिर  4:30 बजे से  दोपहर 12:30 बजे तक  और शाम को  4:00 बजे से लेकर  रात के 10:00 बजे तक मंदिर खुला रहता है  और वही सर्दी के मौसम में  खाटू श्याम मंदिर सुबह 5:30 से लेकर  दोपहर 1:00 बजे तक और शाम को 4:30 से लेकर  9:30 बजे तक  खुला रहता है  इस बीच भक्त कभी भी आकर खाटू श्याम बाबा के दर्शन कर सकते हैं – khatu shyam mandir jane ka rasta

खाटू श्याम मंदिर में आरती का समय | खाटू श्याम मंदिर का रास्ता

खाटू श्याम मंदिर का रास्ता: गर्मी के मौसम में सुबह 4:30 पर आरती की जाती है। वहीं सर्दी के मौसम में 5:30 बजे की जाती हैं। खाटू श्याम की भोग आरती की बात करें तो सर्दी के मौसम में यह आरती 12:30 बजे और गर्मी के मौसम में भी 12:30 बजे ही की जाती हैं। मंदिर बंद करने के समय आरती की जाती है, इसका समय 8:30 बजे हैं।

नोट : प्रत्येक साल फागुन मास में लक्खी मेले के वक्त खाटू श्याम मंदिर श्रद्धालुओं के लिए 24 घंटे के लिए खोला जाता है|

Also Read: जानें खाटू श्याम बाबा के 11 प्रसिद्ध नाम

खाटू श्याम मंदिर पूजा के लिए सामग्री | khatu shyam ka mandir kahan hai

  • अक्षत
  • रोली
  • एक मीठा पान
  • चुरमा का लड्डू
  • खीर
  • देशी घी का लड्डू
  • बिना टूटा हुआ एक मुट्ठी चावल
  • शाम के वक्त गौ पूजा करते हो समय चौकी बनाकर उस पर रोली और अक्षत मिलाकर ज्योति अर्पण करें, इसके बाद 5 चूरमे के लड्डू का भोग लगाएं|
  • दीपक जलाने की बात 5 बार देसी घी से आहूति देते हुए खाटू श्यामाये नमः का जाप करना है| बाबा खाटू श्याम महाराज जी का दर्शन करने से मनुष्य की सभी मनोकामनाएं पूरी होती है|

खाटू श्याम की आरती कितने बजे होती है? | khatu shyam ji jane ka rasta

khatu shyam mandir ka rasta: खाटू श्याम मंदिर में  आरती का समय  सर्दी और गर्मी के मौसम के हिसाब से  चेंज होता रहता है  जो नीचे दी हुई सारणी में  दर्शाया गया है  कुछ इस प्रकार है  – khatu shyam ji jane ka rasta

आरती वंदना गर्मियों का मौसम सर्दियों का मौसम
मंगला आरती प्रतिदिन सुबह 4:30 बजे सुबह 5:30 बजे
शृंगार आरती प्रतिदिन सुबह 7:00 बजे सुबह 8:00 बजे
भोग आरती प्रतिदिन दोपहर 12:30 बजे दोपहर 12:30 बजे
संध्या आरती प्रतिदिन शाम 7:30 बजे शाम 6:30 बजे
विश्राम आरती प्रतिदिन रात्रि 10:00 बजे रात्रि 9:00 बजे

Also Read: किशोर जंत्री पंचांग | Kishore Jantri Panchang 2023 PDF

खाटू श्याम में क्या क्या देखने लाक है? | Khatu Shyam Jane Ka Rasta

Khatu Shyam Shayari

खाटू श्याम मंदिर जाने का रास्ता: श्याम भगवान के दर्शन करने आ रहे हैं तो  हम आपको बताना चाहेंगे  कि खाटू श्याम मंदिर के आसपास ऐसी भी कई जगह है जहां  घूम सकते हैं  – खाटू श्याम जाने का रास्ता, खाटू श्याम जाने का रास्ता by bus, खाटू श्याम जाने का रास्ता बय ट्रैन

श्री श्याम कुंड | khatu shyam mandir ka rasta

khatu shyam mandir jane ka rasta: श्याम मंदिर के पास ही श्याम कुंड बना है  जिसके बारे में ऐसा माना जाता है कि  इसी कुंड से खाटू श्याम जी का शीश प्रकट हुआ था  और जो भी  इस कुंड में  डुबकी लगाता है  उसके शरीर की सारी बीमारियां  खत्म हो जाती हैं  और आपकी जानकारी के लिए बता दें इस कुंड को दो भागों में विभाजित किया गया है 1.  महिला श्याम कुंड 2.  पुरुष श्याम कुंड

श्री श्याम वाटिका | khatu shyam mandir ka rasta

khatu shyam mandir jane ka rasta: खाटू श्याम मंदिर के बाई तरफ  आपको  एक बगीचा दिखाई देगा इन्हीं बगीचों के  फूलों से भगवान श्याम का  सिंगार किया जाता है यहां इस बगीचे में आपको  कई प्रकार के फूल देखने को नजर आएंगे  और इस वाटिका में ही आपको श्याम भक्त आलू सिंह की मूर्ति नजर आएगी – khatu shyam mandir rajasthan location

निष्कर्ष : Khatu Shyam Jane Ka Rasta | Khatu Shyam Mandir ka Rasta

खाटू श्याम मंदिर जाने का रास्ता: khatu shyam jane ke liye train आशा करता हूं कि इस लेख में आपने  खाटू श्याम जाने का रास्ता (Khatu Shyam Jane Ka Rasta) के बारे में  संपूर्ण जानकारी प्राप्त की है  और इसी के साथ ही अपने  कटरा मंदिर के आसपास घूमने की जगह तथा  मंदिर के खुलने और बंद होने का समय  फिर पूजा सामग्री  और थर्ड का मंदिर पर रुकने और खाने की व्यवस्था आदि के  बारे में  पूर्ण जानकारी प्राप्त की होगी (khatu shyam map)  यदि  अभी भी आपको कोई सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में हमें कमेंट करके  पूछ सकते हैं  हमारी  टीम आपके  सभी प्रश्नों के उत्तर  जल्द से जल्द प्रदान करने की कोशिश करेगी – khatu shyam jane ka rasta by train

Also read: Bageshwar Dham Kahan Per Hai | बागेश्वर धाम कहाँ हैं? 

खाटू श्याम मंदिर जाने का रास्ता – Khatu Shyam Jane Ka Rasta

khatu shyam mandir near railway station | khatu shyam ka mandir kahan hai

खाटू श्याम मंदिर क्यों प्रसिद्ध है बाबा खाटू श्याम कोट्स
खाटू श्याम मंदिर कांटेक्ट नंबर Shri Khatu Shyam Images
खाटू श्याम को कौन सा फूल पसंद है? क्या हम श्याम बाबा की फोटो घर पर रख सकते हैं?
खाटू श्याम में क्या प्रसाद चढ़ता है खाटू श्याम के चमत्कार
खाटू श्याम कब जाना चाहिए खाटू श्याम बाबा को प्रसन्न करने के उपाय

Khatu Shyam Jane Ka Rasta FAQs | khatu shyam mandir rajasthan location

Q. रींगस से खाटू श्याम की दूरी कितना है?

रींगस से खाटू श्याम की दूरी 18 किलोमीटर है|

Q. खाटू श्याम का दिन कौन सा है?

हर साल कार्तिक शुक्ल पक्ष की देवउठनी एकादशी को खाटू श्याम महाराज जी का जन्म उत्सव बड़े धूमधाम से मनाया जाता है|

Q. दिल्ली से खाटू श्याम की दूरी कितनी है?

नई दिल्ली से खाटू श्याम बाबा की दूरी 354 किलोमीटर है|

Q. उज्जैन से खाटू श्याम जाने का रास्ता

उज्जैन से खाटू श्याम की दूरी 618 किलोमीटर है, आप को बड़ी आसानी से उज्जैन रेलवे स्टेशन से जयपुर रेलवे स्टेशन राजस्थान के लिए ट्रेन मिल जाएगी| यहां से खाटू श्याम मंदिर की दूरी 80 किलोमीटर है| जयपुर रेलवे स्टेशन से बाहर निकलते ही आपको बस और टैक्सी मिल जाएगा, जो आपको खाटू श्याम धाम तक पहुंचा देगा|

Q. सीकर से खाटू श्याम की दूरी

सीकर से खाटू श्याम की दूरी 45.8 किमी है|

Q. जयपुर से खाटू श्याम कितने किलोमीटर है?

जयपुर से खाटू श्याम मंदिर की दूरी 80 किलोमीटर है|

Q. ट्रेन से खाटू श्याम कैसे जाएं?

खाटू श्याम मंदिर का सबसे नजदीकी स्टेशन रींगस रेलवे स्टेशन हैं| इसलिए जब भी आप ट्रेन से खाटू श्याम मंदिर जाने की सोच रहे हैं, तो आपको रींगस रेलवे स्टेशन के लिए टिकट कटाना पड़ेगा|

Q. खाटू श्याम जाने के लिए कौन सा रास्ता सही है?

खाटू श्याम जाने के लिए आपको सबसे पहले जयपुर रेलवे स्टेशन (राजस्थान) जाना पड़ेगा| जहां से खाटू श्याम मंदिर की दूरी 80 किलोमीटर है, या फिर आप रिंगस रेलवे स्टेशन (राजस्थान) जा सकते हैं, जहां से खाटू श्याम मंदिर की दूरी अट्ठारह किलोमीटर है|

Q. खाटू श्याम को हारे का सहारा क्यों कहा जाता है?

श्री कृष्ण भगवान ने जब बर्बरीक की गर्दन काटी थी, तब उसे वरदान देते हुए कहा था, कि जो भी हारा हुआ भक्त आपका दर्शन करेगा, उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी होगी| इसीलिए खाटू श्याम जी को हारे का सहारा कहा जाता है| 

Q. खाटू श्याम का असली नाम क्या है?

खाटू श्याम जी का असली नाम बर्बरीक हैं| 

Q. खाटू श्याम मंदिर कौन से शहर में पड़ता है?

भारतीय राज्य राजस्थान के सीकर जिले में खाटू श्याम जी का मंदिर स्थित है|

Q. जयपुर से खाटू श्याम के लिए ट्रेन कौन सी है?

18244 : भगत की कोठी बिलासपुर एक्सप्रेस, 20844 : Bgkt Bsp Sf Express

Q. खाटू श्याम जी का मंदिर सुबह कितने बजे खुलता है?

खाटू श्याम जी का मंदिर दिन में दो बार खुलता है सुबह के समय 6:00 बजे से दोपहर 1:00 बजे तक और शाम को 4:00 बजे से 9:00 बजे तक| 

Q. खाटू श्याम कौन से दिन जाना चाहिए?

खाटू श्याम दर्शन करने के लिए वैसे तो आप 12 महीने में कभी भी जा सकते हैं, लेकिन अगस्त मार्च तक का समय खाटू श्याम दर्शन के लिए बहुत अच्छा होता है| खास तौर पर जन्माष्टमी के दिन खाटू श्याम दर्शन करना काफी लाभकारी सिद्ध होता है| 

Q. खाटू श्याम की फेमस चीज क्या है?

खाटूश्यामजी की फेमस चीज खाटू श्याम जी का मेला हैं, जो कि पूरे विश्व विख्यात हैं|

Q. खाटू श्याम में दर्शन करने में कितना समय लगता है|

खाटू श्याम जी का दर्शन करने के लिए भक्त जनों का काफी लंबी लाइन लगती है| लंबी लाइन होने के कारण खाटू श्याम जी के मूर्ति तक पहुंचने में 2 से 3 घंटे लग जाते हैं| और खाटू श्याम जी का दर्शन करने में मात्र 20 सेकेंड लगता है, क्योंकि ज्यादा भीड़ होने के कारण मंदिर के कार्यकर्ता मूर्ति के पास किसी को रुकने नहीं देते हैं, इसलिए भक्तगण जल्दी से दर्शन करके तुरंत आगे बढ जाते हैं| 

Q. खाटू श्याम कौन से शहर में पड़ता है?

राजस्थान राज्य के सीकर जिले में स्थित खाटू नगर में पड़ता है 

खाटू श्याम जाने का रास्ता | khatu shyam mandir near railway station

Tags: खाटू श्याम जाने का रास्ता, khatu shyam mandir near railway station, खाटू श्याम मंदिर जाने का रास्ता, khatu shyam ka mandir kahan hai, khatu shyam mandir rajasthan location, khatu shyam ji ka mandir kahan hai, khatu shyam map, खाटू श्याम जाने का रास्ता by train, khatu shyam jane ka rasta

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *